Breaking News
Home » Live TV » माँझी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की रोगी कल्याण समिति को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से किया भंग

माँझी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की रोगी कल्याण समिति को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से किया भंग

सारण : माँझी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की रोगी कल्याण समिति को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से किया भंग

सत्याग्रह न्यूज़ माँझी संवाददाता रोहित राज

मांझी(18 सितम्बर 2017) प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की रोगी कल्याण समिति को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से भंग किया ।
अवैध ढंग से चल रहे पैथालॉजी को बंद किया , मरीजो का होगा निःशुल्क जांच ।
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज कराने वाले मरीजो के लिए अच्छी खबर है.जांच के लिये अब शोषण का शिकार नही होना पड़ेगा स्वास्थ्य केंद्र मांझी में अवैध ढंग से चल रहे पैथालॉजी को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. उमेश शर्मा ने बंद करा दिया है तथा तत्काल प्रभाव से रोगी कल्याण समिति को भंग कर दिया है मरीजों की सुविधा के लिए सरकारी स्तर पर नि:शुल्क पैथालॉजिकल जांच की व्यवस्था कर दी है पैथालॉजिकल जांच की जिम्मेवारी स्वास्थ केंद्र में पदस्थापित लैब टेक्निशियन मिथिलेश कुमार को दी गयी है । प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने यह कार्रवाई ग्रामीणों की शिकायत पर की है. चैनपुर निवासी शैलेश कुमार यादव समेत दर्जनों ग्रामीणों ने स्वास्थ्य केंद्र में अनियमितता की शिकायत की थी ।अबैध ढंग से चल रहे पैथॉलाजी के मामले सिविल सर्जन डा. निर्मल कुमार ने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी तथा स्वास्थ्य प्रबंधक से दो दिनों के अंदर जबाब देने का निर्देश दिया था ग्रामीणों की शिकायत पर प्रखंड विकास पदाधिकारी मिथिलेश बिहारी वर्मा ने जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया था । प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने रोगी कल्याण समिति को अगले आदेश तक के लिए भंग कर दिया है तथा नये सिरे से समिति का गठन करने के लिए विभाग के वरीय अधिकारियों से दिशा-निर्देश की मांग की है ।बताते चलें कि रोगी कल्याण समिति के सदस्यों का लंबे समय से चयन नहीं किया गया था समिति में एक ही परिवार के कई लोग थे ।जो मरीजों के कल्याण व अस्पताल के विकास के मामले में हमेशा निष्क्रिय रहते थे। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में लंबे समय से अनाधिकृत रूप से प्राइवेट पैथालॉजी का संचालन किया जा रहा था. जिसकी अनुमति विभाग से नही मिली थी । अनाधिकृत रूप से चल रहे पैथालॉजी में मरीजों का शोषण किया जा रहा था । इसकी भी शिकायत ग्रामीणों ने की थी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने बताया कि ग्रामीणों की शिकायत के आलोक में यह कार्रवाई की गयी है उन्होनें बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सरकारी स्तर पर पैथालॉजी खोला गया है जिसमें मरीजों की आवश्यक जांच नि:शुल्क करने की व्यवस्था की गयी है।

About Vikash Kumar

x

Check Also

मोतिहारी: सरकारी कार्य मे बाधा पहुँचाने के आरोप मे दर्ज एफ आई आर के आरोपितो को हरसिद्धी पुलिस ने किया गिरफ्तार

मोतिहारी: सरकारी कार्य मे बाधा पहुँचाने के आरोप मे दर्ज एफ आई आर के आरोपितो को हरसिद्धी पुलिस ने किया ...